शिव्या नाथ The travel Blogger

दोस्तों घूमना किसे पसंद नहीं है। नए लोगों से मिलना, नए जगहों पर जाना वहां के भोजनों का स्वाद चखना, घूमने वालों का पसंद है। आज के इस पोस्ट में हम शिव्या नाथ के बारे में बात करने जा रहे हैं जो 30 से ज्यादा देशों का भ्रमण कर चुकी हैं।

हम बात कर रहें हैं इंडियन ब्लॉगर शिव्या नाथ जी के बारे में। इन्होने अपना पूरा जीवन भ्रमण पे समर्पित कर दिया है।

परिचय

इनका जन्म उत्तराखंड के खूबसूरत वादियों में हुआ। इनकी विद्यालयी शिक्षा उत्तराखंड में ही हुई। आगे की पढाई के लिए एजुकेशन लोन लेकर सिंगापुर चली गयीं। 2009 में जब इनकी ग्रेजुएशन समाप्त हुई तो जॉब के लिए कोशिश करने लगी मगर उस समय आर्थिक मंदी के कारण बड़ी से बड़ी कंपनियां जॉब रिक्त्यियाँ बंद कर चुकी थी जिसमें शिव्या जी काम करना चाहती थी। बाद में उन्होंने सिंगापुर टूरिज्म बोर्ड में काम करना शुरू कर दिया।

सिंगापुर टूरिज्म बोर्ड में काम के दौरान इनका सोशल मीडिया एक्सपेरिमेंट जारी रहा जिसमें इन्होनें पुरे दुनिया के ट्रेवल ब्लॉगर के बारे में रीसर्च किया। यही वो दौर था जब इनका जूनून ट्रैवेलिंग की दुनियां की तरफ हो गया।

यात्रा

दो महीने की छुट्टी लेकर अपने एक दोस्त के साथ यूरोप के टूर पे निकल गयीं। बाद भारत आकर इन्होनें हिमालय की ऊचाइयों का आनंद लिया।

इन दो महीनों में इनका अनुभव ऐसा रहा की बांकी पीछे की जिंदगी इसके सामने रंगहीन लगने लगा। फिर आगे चलकर इन्होने अपना पहला कॉर्पोरेट जॉब भी छोड़कर दुनियां भ्रमण का सपना लिए आगे निकल पड़ी।

शिव्या जी ने पूरी तरह से घुमन्तु जीवन शुरू कर दिया।

2013 में इन्होने अपना घर छोड़ा फिर लगभग सारा सामान भी बेच दिया और निकल पड़ी दुनिया भ्रमण पर।

भोजन

2015 में शाकाहारी हो गयी जो की एक ट्रवेलेर के लिए बहुत ही बड़ी चुनौती है। ज़्यादातर देश के लोग सर्वाहारी और एनिमल उत्पाद से बना हुआ भोजन पसंद करते हैं। लेकिन इन्होनें अपना रास्ता निकाला और लोगों बताया की एक ट्रवेलेर के लिए सर्वाहारी होना अनिवार्य नही है। ये जहाँ भी जाती है पहले अपने लिए वहां के फ़ूड हैबिट के बारे में जानकारी लेते हैं।

किताब

2018 में इनका एक किताब प्रकाशित हुआ “The Shooting Star” इस किताब में इन्होनें अपना पूरा अनुभव शब्दों में ढाला है। एक महीनें के बाद ही यह नेशनल बेस्ट सेलर बुक हो गया।

2014 की बात करें तो इन्होनें अपना जॉब ट्रैवेलिंग के लिए छोड़ दिया उसपे BBC Travel ने फ़ीचर पोस्ट बनाया।

2017 में नेशनल जियोग्राफिक ट्रेवलर इंडिया मैगज़ीन के कवर पेज पे छाई रही।

ट्रेवल मनैजमेंट के बारे में ये बताती हैं की ये जहाँ भी जाती हैं वहां के लोगों से घुल मिल जाती है और स्थानीय लोगों की तरह रहना शुरू कर देती है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करती हैं। प्लास्टिक बॉटल का प्रयोग करने से बचती हैं। जानवरों के साथ नैतिक व्यवहार तथा मांसाहारी भोजन से दूर ही रहती है हैं।

मूल्यांकन

कुल मिलाकर देखा जाये दोस्तों तो शिव्या जी ने ट्रेवलिंग को पूर्ण रूप से आत्मसात कर ली हैं। और इनका ये प्रोफेशन भी बन चुका है। इनके वेबसाइट पर जाकर इनके बारे में आप पढ़ सकते हैं।

मित्रों आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताइयेगा। अगर आप अपने ईमेल पर हमारा पोस्ट चाहते हैं तो सब्सक्राइब जरूर करें। तब तक के लिए आज्ञा दीजिये।

Pradeep Karn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *